Uncategorized

अंतर्राष्ट्रीय चाय दिवस आज, जाने चाय पीने के फायदे…

पानी के बाद दुनिया में दूसरा सबसे ज्यादा पीये जानी वाली चीज है चाय, कुछ लोगों के लिए, चाय के मायने हर किसी के लिए अलग-अलग है हर किसी के दिन की शुरूआत चाय से होती है मानों जब तक चाय नहीं तब तक दिन शुरू ही न हुआ हो। इस समय चाय का सबसे बड़ा निर्यातक चीन है. 2007 में टी बोर्ड ऑफ इंडिया द्वारा किए गए एक अध्ययन के अनुसार, भारत में उत्पादित कुल चाय का लगभग 80 प्रतिशत घरेलू आबादी द्वारा उपभोग किया जाता है. अंतर्राष्ट्रीय चाय दिवस हर साल 15 दिसंबर को बांग्लादेश, श्रीलंका, नेपाल, वियतनाम, इंडोनेशिया, केन्या, मलावी, मलेशिया, युगांडा, भारत और तंजानिया जैसे देशों में मनाया जाता है.

चाय दिवस का इतिहास

पहला आईटीडी 2005 में भारत में नई दिल्ली में आयोजित किया गया था. हालांकि, 2015 में, भारत सरकार ने संयुक्त राष्ट्र खाद्य और कृषि संगठन को दुनिया भर में अंतर्राष्ट्रीय चाय दिवस का विस्तार करने का प्रस्ताव दिया. संयुक्त राष्ट्र द्वारा 21 मई को अंतर्राष्ट्रीय चाय दिवस के रूप में मनाने का कारण यह है कि अधिकांश चाय उत्पादक देशों में मई में चाय उत्पादन का मौसम शुरू हो जाता है.

चाय पीने के क्या-क्या फायदे हैं-

हाल ही में हुए शोध से पता चला कि, चाय पीने से दिल का दौरा और ब्लड क्लॉट जैसी गंभीर हृदय रोग का खतरा काफी कम हो जाता है, चाय में एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं

ऊर्जा प्रदान करे

अधिकतर लोग सुबह-सुबह खाली पेट दूध वाली चाय पीते हैं, लेकिन खाली पेट चाय पीने से नुकसान पहुंच सकता है.लेकिन अगर आप किसी अन्य समय पर दूध की चाय पीते हैं, तो इससे आपके शरीर को अच्छी तरह से काम करने के लिए ऊर्जा मिलेगी.दूध में कार्बोहाइड्रेट मौजूद होता है, जिससे शरीर को ऊर्जा मिलती है.

तनाव कम करता है

सिरदर्द होने पर या तनाव महसूस होने पर अगर एक कप दूध की चाय पी ली जाती है, तो काफी आराम मिलता है.दूध की चाय में कैफीन होता है, जिससे शरीर तरोताजा रहता है और तनाव दूर होता है.इसलिए तनाव को कम करने के लिए आप दूध की चाय जरूर पी सकते हैं.

चाय पीकर कैसे करे वजन कम

क्या आप को पता है कि चाय पीने से वजन घटाने के लिए भी दूध की चाय फायदेमंद है.दूध की चाय में पॉलीफेनोल और कैफीन होता है, ये कंपाउंड्स वजन कम करने में मदद कर सकते हैं.दूध की चाय पीने के बाद आपको लंबे समय तक भूख नहीं लगती है और वजन घटाने में मदद मिलती है.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also
Close
Back to top button